Provident Fund क्या है

pf_kya_hai

  1. PF का मतलब Provident Fund  है इसको EPF के नाम से भी जाना जाता है जिसका मतलब है Employee Provident Fund। जो भी सरकारी या प्राइवेट कंपनी में 20 या 20 से अधिक कर्मचारी है तो नियोक्ता को इसका फायदा अपने कर्मचारी को देना होता है चाहे वो कंपनी सरकारी या  प्राइवेट कंपनी हो। इसका फायदा नहीं दिए जाने पर कमपनी पर कारवाही की जा सकती है।   इसका संचालन EPFO द्वारा किया जाता है

PF पर कितने परसेंट कटता है (Percentage of PF )

12 % एम्प्लॉई और 12 % एम्प्लायर या नियोक्ता द्वारा जमा किया जाता है । अब सवाल यह है की 12 % एम्लोई का शेयर किस हिसाब से कटता है तो हम आपको बता दे । यह यह  बेसिक का 12% कटता है लेकिन अगर आपका बेसिक 15000/- से कम है ।और आपकी सैलरी के बाकि हिस्से पर भी यहाँ जोड़ा जाता है ताकि आपको ज्यादा से ज्यादा इसका फायदा मिले उदाहरण के लिए:

1. बेसिक (Basic) : 12000/-

हाउस रेंट अलाउंस (HRA) / dearness अलाउंस ( dearness Allowances ): 3000
तो आपका pf बेसिक + हाउस रेंट अलाउंस / dearness अलाउंस = 12000+3000= 15000
15000*12/100=1800/-

तो आपका pf 1800/- Rs कटेगा

2. बेसिक (Basic) : 12000/-

हाउस रेंट अलाउंस (HRA) / dearness अलाउंस ( dearness Allowances ) :0
तो आपका pf बेसिक + हाउस रेंट अलाउंस / dearness अलाउंस = 12000+0= 12000
12000*12/100=1440/-

तो आपका pf 1440/- Rs कटेगा

3. बेसिक (Basic) : 15000/-

हाउस रेंट अलाउंस (HRA) / dearness अलाउंस ( dearness Allowances ) :5000
क्योकि अब आपका बेसिक १५००० या इससे ज्यादा है तो अब सिर्फ बेसिक पर pf कटेगा।
15000*12/100=1800/-

तो आपका pf 1800/- Rs कटेगा

यहाँ हमने आपको तीन तरह के उद्धरण दे कर समझाया आशा है आपको यहाँ समझ आया होगा, अब सवाल यह है की एम्प्लायर या नियोक्ता कितना pf जमा करवाएगा तो यहाँ एक दम सिंपल है जितना भी आपका pf कटा और pf अकाउंट में जमा हुआ उतना ही पैसा एम्प्लायर या नियोक्ता जमा करवाएग।

pf के बेनिफिटस (Benefits of PF)

1. High Interest :इसका सबसे बड़ा फायदा यहाँ है की जो भी पैसे आपके pf अकाउंट में जमा होता है उस पर भरी ब्याज मिलता है जो हर साल आपके अकाउंट में जमा होता रेहत है 2020-21 फाइनेंशल ईयर में यह । 7.1 है यहाँ Covid-19 (Corona) की विपदा की वजह से काम हुई है वरना यहाँ हर साल बढ़िया ही रहा है जैसे

2015-16-8.80%

2016-17-8.65%

2017-18-8.55%

2018-19-8.65%

2019-20-8.65%

2. Pension : कर्मचारी पेंशन स्‍कीम (EPS) के तहत जिस भी कर्मचारी का Provident Fund 10 साल लगातार जमा होता है वह इसका हक़दार होता है और उससे 58 साल की उम्र हो जाने पर एक निश्चित पेंशन मिलती है अभी यह कम से कम 1000/- और अधिक से अधिक 7500/- Rs का पावधान है।

3. EDLI :- इस के तहत कर्मचारी की  किसी भी प्रकार से मृत्यु जैसे :- स्वाभाविक, दुर्घटना या बीमारी,होने पर अधिकतम 6 लाख रुपए है Provident Fund  खाताधारक के नॉमिनी को मिलता है । इसके लिए कर्मचारी के नॉमिनी को  को कुछ भी चुकाना नहीं पड़ता यहाँ सुविधा EPFO द्वारा की जाती।

pf के कुछ अतिरिक्त फायदे (Other Benefits  of pf)

1. Passbook :-

इसमें भी आपको बैंक की तरह पासबुक मिलती है जिस पर आप अपना पूरा हिसाब देख सकते है।और कितने पैसे आपके बैलेंस में है आराम से देख सकते है।

2. UAN No:-

आप कितनी भी कंपनी में नौकरी करे पर आप सभी के Provident Fund खातों को एक UAN No. से लिंक कर सकते है इसका फायदा यह है की आप आसानी से अपना  का पैसा एक पासबुक से दूसरी पासबुक में ट्रांसफर कर सकते है जिससे  जरुरत पड़ने पर आप आसानी से आपके द्वार कुल जमा का एक हिस्सा निकल सकते है।

3. UAN Portal:

यह ऑनलाइन पोर्टल है जो कर्मचारी की हेल्प के  लिए बनाया गया है जहा कर्मचारी लॉगिन करके अपनी पासबुक देख सकता है जरुरत पड़ने पर एडवांस पैसे निकल सकता है, नयी पासबुक में अपना पैसा ट्रांसफर कर सकता है। और यह सब सुविधा ऑनलाइन है जैसे किसी बैंक की नेटबैंकिंग।

पहले सभी प्रकिया ऑफलाइन होती थी यानि की आपको किसी भी काम के लिए pf ऑफिस जाना पड़ता था और कागज़ी करवाई करनी पड़ती थी जिसमे बहुत समय बर्बाद होता था।  इसके साथ ही किसी भी डिटेल के मिलान नहीं होने पर आपका फॉर्म रिजेक्ट कर दिया जाता था चाहे वह फॉर्म अपने एडवांस , ट्रांसफर या पेंशन आदि के लिए जमा करवाया हो पर अब ऐसा नहीं है ।  ऑनलाइन पोर्टल आने से आप अपनी डिटेल चेक कर सकते है और ठीक करवा सकते है जिससे यदि आप कोई फॉर्म ऑनलाइन अप्लाई करते है तो उसके  रिजेक्ट नहीं होने के चांसेस बढ़ जाते है।  जिससे आपका आपके नियोक्ता और PF ऑफिस सभी का समय बचता है। यदि आपको अपना UAN NO. नहीं  पता तो अपने ऑफिस से संपर्क करे और यदि आपको आपका UAN No.  मिला हुआ है तो उसे एक्टिवेट करे और इस सुविधा का लाभ उठाये।

4. Pf Advance :-

वैसे तो Provident Fund का पैसा रिटायरमेंट के बाद या नौकरी चले जाने और दूसरी नौकरी न मिलने पर निकला जाता है पर कुछ केस में आप अपने pf का पैसा एडवांस निकल सकते है।

जैसे :- घर की मरम्मत, बीमारी आदि।  पैसे निकलने का काम अब ऑनलाइन UAN पोर्टल के माध्यम से हो जाता है जिसकी वजह से कम से कम समय और बिना कागजी कारवाही के आपका पैसा आपको मिल जाता है।

5. Pf Transfer :-

यहाँ सुविधा भी अब ऑनलाइन हो गयी है जिसकी  मदद से अब आप अपनी पूरानी EPFO पासबुक का पैसा नयी पासबुक में जमा करा सकते है। अपना सारा पैसा एक पासबुक में रख सकते है।

यह भी पढ़े।

जरुरी और महत्वपूर्ण बातें :-

Provident Fund में अपनी सभी जानकारी अपडेट रखे।  समय समय पर अपने अकाउंट को लॉगिन करके जाँच करते रहे ।  KYC  अपडेट रखे जैसे : बैंक डिटेल , पैन नंबर , आधार नंबर ।

ऐसे  ही आर्टिकल को पढ़ने के लिए हमारे साथ बने रहिए। हमें फॉलो कर सकते हैं । साथ ही कमेंट बॉक्स में हमें यह भी बताएं कि आपको यह आर्टिकल कैसा लगा आर्टिकल पसंद आया हो तो, अपने फ्रेंड्स और फैमिली मेंबर्स के साथ जरूर शेयर करें।

आपने अपना कीमती और बहुमूल्य समय दिया इसके लिए बहुत-बहुत धन्यवाद ।

नमस्कार।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *